Friday, January 20

ब्रेकिंग न्यूज़ : मोदी-डोभाल का मास्टर स्ट्रोक, दाउद हुआ कंगाल, देखिये…

नई दिल्ली: अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के खिलाफ मोदी सरकार को बड़ी कामयाबी मिली है. यूएई ने भारत के डॉजियर पर कार्रवाई करते हुए दाऊद की दुबई में करीब 15 हजार करोड़ रूपये से ज़्यादा की प्रॉपर्टी को ज़ब्त कर लिया है. इसमें एक होटल और कई रियल स्टेट से जुडी प्रॉपर्टी शामिल है.

भारत ने यूएई को दाऊद के खिलाफ डॉजियर दिया था

अगस्त 2015 में मोदी ने यूएई की यात्रा की थी और NSA अजित डोभाल ने दाऊद की प्रॉपर्टी का डोजियर यूएई सरकार को सौंपा था. मोदी सरकार ने अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम की सारी डॉनगीरी ख़त्म करने की शुरुआत कर दी है. मोदी सरकार की पहल पर यूएई सरकार ने दाऊद की 15000 करोड़ की सम्पती ज़ब्त कर ली है. सूत्रों के मुताबिक, NSA अजित डोभाल को यूएई सरकार ने दाऊद इब्राहिम के डोजियर पर कार्रवाई करने की जानकारी साझा की है.

भारत के डॉजियर पर यूएई ने दाऊद पर कार्रवाई की

एबीपी न्यूज़ के पास यूएई को दिए गए उस डॉज़ियर की एक्सक्लूसिव कॉपी मौजूद है. इस डॉज़ियर में दाऊद की सारी जानकारी दी गयी है. राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल ने ये डॉज़ियर पीएम मोदी की यूएई यात्रा के दौरान वहां की सरकार को सौंपा था. इसके मुताबिक दाऊद इब्राहिम पर ड्रग्स ट्रैफिकिंग, जाली नोट, वसूली, हवाला के ज़रिए मनी लॉन्ड्रिंग में शामिल है.

इसके अलावा उसे 1993 में हुए मुंबई बम धमाकों का मास्टरमाइंड बताया गया है. डॉज़ियर में ये भी लिखा है कि दाऊद ने 2008 में मुंबई पर हुए हमले में आतंकियों को मदद उपलब्ध करायी थी.

1993 मुंबई बम धमाकों का मास्टरमाइंड है दाऊद

1993 में मुंबई बम धमाकों के बाद दाऊद इब्राहिम ने भारत से फरार होने के बाद दुबई को अपना अड्डा बनाया था और यही से वो हवाला, ड्रग्स,अवैध हथियारों की तस्करी और फिरौती का धंधा चलाता था.

दुबई में दाऊद की कंपनी गोल्डन बॉक्स कंपनी जब्त

दाऊद ने ‘गोल्डन बॉक्स’ नाम की एक कंपनी दुबई में बनाई थी, इस कम्पनी के ज़रिये दाऊद ने होटल और रियल स्टेट के कारोबार में कदम रखा, सूत्रो के मुताबिक यूएई सरकार ने जांच में पाया है कि ‘गोल्डन बॉक्स’ नाम की कंपनी में फ़र्ज़ी निवेशकों के ज़रिये पैसा डाला गया और इसके लिए हवाला के ज़रिये आये पैसे का इस्तेमाल हुआ.

इसी कम्पनी के ज़रिये दुबई में करीब तीन होटल, अरबो रूपये कीमत की तीन मल्टी स्टोरी रेसिडेंसिअल बिल्डिंग खड़ी की, इसके अलावा दुबई और आबू धाबी में रियल स्टेट डवलेपमेंट के लिए 3000 करोड़ रूपये कीमत की ज़मीने भी खरीदी थी और इसी का सहारा लेकर फर्जी निवेशकों के ज़रिए दूसरी रियल स्टेट कंपनियां भी बनाई थीं.

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *