Friday, January 20

गाँधी परिवार में मचा हडकंप: जब इस महिला अब दुनिया को बताया की संजय गांधी मेरे …………..

भारत सरकार में डायरेक्टर जनरल रह चुकी एक महिला ने संजय गाँधी को अपना बॉयोलोजिकल पिता बताया है

आजाद भारत के इतिहास में संजय गांधी इकलौते ऐसे राजनेता हैं जिनके जिद्दी व्यक्तित्व, बेहद कठोर फैसलों और निजी व सियासी क्रियाकलापों के बारे में जानने की जिज्ञासा भारतीय जनमानस में अब भी मौजूद हैl महज 34 साल की अल्पआयु में दुनिया को अलविदा कह अनंत की यात्रा पर जा चुके संजय गांधी को लेकर हाल ही में एक बार बेहद गंभीर किस्म के नए दावे ने उन्हें सोशल मीडिया पर चर्चाओं का केंद्र बिंदु बना दिया हैl वहीं संजय गांधी की मौत के 36 साल बाद हुए इस खुलासे ने फिर एक बार संजय की निजी जिन्दगी से जुड़े वाकयात को बेपर्दा करना शुरू कर दिया हैl

आपको बता दें कि फेसबुक पर एक महिला ने ऐसी पोस्‍ट लिखी है जिसे पढ़कर लोग हक्‍के-बक्‍के रह गएl प्रिया सिंह पॉल नाम की एक महिला के दावे के अनुसार उसने स्वर्गीय संजय गांधी को अपना बॉयोलोजिकल पिता बताया हैl
जी हाँ ऐसा हम नहीं बोल रहे बल्कि इस महिला ने खुद दावा करते हुए कहा है कि वह पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के बड़े बेटे संजय गांधी की बेटी हैl यह महिला भारत सरकार में डायरेक्टर जनरल रह चुकी हैं और कई प्राइवेट चैनलों पर बतौर एंकर, राइटर और डायरेक्टर काम भी कर चुकी हैंl

अब तक सिर्फ मेनका गांधी को संजय गांधी की पत्नी और वरुण गांधी को उनकी संतान होने का गौरव हासिल था, उसी के साथ इस महिला के इस दावों में कितनी सच्चाई है या ये अफवाह है इसका पता तो डीटेल्ड इंवेस्टीगेशन के बाद ही चलेगा लेकिन वहीँ आपको बता दें कि इस महिला ने दुनिया के सामने कई ऐसे बड़े सबूत रखे हैं जिससे कई सवाल उठना तो लाज़मी हैl

शादी से पहले ही प्रिया की माँ बन गई थी गर्भवती जिसके चलते साल 1971 में संजय गाँधी और प्रिया की माँ ने दुनिया से छुप कर की थी शादी

प्रिया ने ये दावा खुद किया है कि संजय गांधी और उनकी बॉयोलोजिकल मदर की मोहब्बत जो 1971 से पहले परवान चढ़ी थीl

आपको बता दें कि ये वो दौर था जब संजय 23 साल के युवा थेl तब संजय बहुत ज्यादा सियासी तौर पर न तो चर्चित थे न बहुत ज्यादा कामयाब ही थेl प्रिया के अनुसार उस वक्त उनकी बॉयोलोजिकल मदर 16 साल की थी जब दोनों ने मंदिर में जाकर 7 फेरे लिए जिसका परिणाम बतौर संतान प्रिया का जन्म हुआ थाl जन्म के वक्त प्रिया का नाम प्रियदर्शनी रखा गयाl हालाँकि आपको पता ही होगा कि इंदिरा गांधी का भी पूरा नाम इंदिरा प्रियदर्शनी थाl प्रिया की बॉयोलोजिकल मदर भी दिल्ली के बेहद चर्चित और बेहद रईस घराने से ताल्लुक रखती हैंl
प्रिय के अनुसार उनकी माँ शादी से पहले ही गर्भवती हो गई थी जिसके चलते उन्हें प्रिया को दुनिया की नजरों से दूर रखते हुए उनकी परवरिश की वैकल्पिक और सुरक्षित व्यवस्था की थीl संजय गांधी और प्रिया की बॉयोलोजिकल मदर की लव स्टोरी पर साल 1971 में उस वक़्त ग्रहण लगना शुरू हुआ जब भारत ने बांग्लादेश की मुक्ति संग्राम में सहायता की और फिर भारत पाकिस्तान के बीच युद्ध हुआl

संजय का जैसे-जैसे सियासी रुतबा बढ़ता गया वैसे-वैसे संजय और प्रिया की माँ के रिश्ते बिगड़ते गये

साल 1971, ये वही दौर था जब संजय की सियासी मशरुफियत बढ़ने लगी थी जिसके चलते प्रिy की माँ और संजय गाँधी के बीच के रिश्ते धीरे-धीरे बिगड़ते चलते गये और 1974 में संजय ने मेनका से शादी कर लीl प्रिया के अनुसार यह खबर प्रिया की बॉयोलोजिकल माँ के परिवार पर सदमे की तरह पड़ी और इस सदमे से प्रिया की मदर के दादा जी की मौत हो गई थीl फिर 1975 में प्रिया की बॉयोलोजिकल माँ ने भी दूसरी शादी कर ली और चुपचाप देश छोड़ कर चली गईl यह दावा करने वाली प्रिया कोई आम महिला नहीं बल्कि पढ़ी लिखी खुद की एक मुकम्मल पहचान बनाने वाली महिला हैl

प्रिया के अनुसार उनकी मां सिंह पॉल और आंटी विमला गुजराल ने इस बारे में उन्हें बताया थाl प्रिया ने फेसबुक पर ये भी लिखा कि यह बात वे संजय गांधी के परिवार या किसी को नुकसान पहुचाने के लिए नहीं लिख रही हैंl

आपको बता दें कि इस बड़े खुलासे के बाद जहाँ एक ओर प्रिया सिंह की सराहना की जा रही है, वहीं कई लोगों ने इस खुलासे पर कई सवाल भी उठाये हैं तो कई ऐसे लोग है जो उनके इस खुलासे को तथ्यात्मक रूप से सही बता रहे हैंl

इस पोस्ट के वायरल होते ही कई तो ऐसे लोग भी प्रिया की बात को सच बताते हुए ये कहा कि ‘‘संजय गांधी के ड्रीम प्रोजेक्ट’’ मारुती उद्योग के नामकरण की भी कहानी संजय के असफल प्रेम से जुड़ी हैl वहीं दिल्ली के उस दौर के कई बेहद सम्मानित कलमकारों ने संजय और प्रिया की जैविक माँ की प्रेम कहानी को सच बताया हैl

अब इस बात में कितनी सच्चाई है ये बात तो पूरी तरह से सही जांच-पड़ताल के बाद ही पता चल पाएगी लेकिन प्रिया के इस दावे ने एक बार फिर गाँधी परिवार पर बड़ा सवाल उठा दिया हैl

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *