Friday, February 24

महिला नही हुई संतुष्ट तो उसने उठाया ये कदम !

मुर्शिदाबाद की रहने वाली एक लड़की जब शादी की पहली रात सम्भोग में संतुष्ट नहीं हुईं तो उन्होंने हंगामा कर दिया। उन्होंने कहा कि सेक्स के दौरान उनके पति उत्तेजना पैदा नहीं कर पाते थे जिसकी वजह से वो कभी संतुष्ट नहीं हुईं। इस मामले पर चुप्पी साधने की बजाय उन्होंने इसपर खुलकर बात की। उन्होंने कहा कि मुझे इसपर बोलने में ना तो डर लगता है और ना ही किसी तरह की शर्मिंदगी। उन्होंने ना सिर्फ तलाक मांगा बल्कि पति से अलग होने की अर्जी भी डाल दी।तलाक के अलावा महिला ने अपने सास-ससुर से दहेज में दिया गया 55,000 नकद और बाकी सामान भी लौटाने को कहा है। कई मुलाकातों के बाद आखिरकार शनिवार को महिला को जीत मिल गई। महिला की शादी 2 हफ्ते पहले ही बर्दवान ज़िले के खेचुरी गांव के वसीम से हुई थी। शादी के बाद जब लड़की के घरवाले उनसे मिलने ससुराल पहुंचे, तो उन्हें पता चला कि वसीम को कुछ यौन बीमारी है।

कुछ दिनों के बाद लड़की जब मायके आई तो उनकी दादी ने सुहागरात के बारे में पूछा। इसपर उन्होंने सबकुछ बता दिया। परिवार ने उन्हें सलाह दी कि उनको न्याय मांगना चाहिए ना कि ऐसी शादी में फंसे रहना चाहिए। इसके बाद महिला ने स्ट्रीट सरवायवर्स इंडिया नाम का एक एनजीओ चलाने वाली शबनम रमास्वामी से मुलाकात की। रमास्वामी ने कहा, ‘साल 2002 से ही गांव के लोग अपनी दिक्कतों के समाधान के लिए हमारे पास आते हैं। अगर एक महिला या पुरुष को अपनी शादी में कुछ दिक्कतें आ रही हों तब लोग हमसे संपर्क करते हैं।महिला ने हमें बताया, ‘मैंने 9वीं तक पढ़ाई की है। मेरे पति कढ़ाई का काम करते हैं। मेरे परिवार ने शादी में दहेज के तौर पर 55 हजार रुपए के अलावा बिस्तर, गद्दा और कई चीजें दी थीं। उसमें भी 55 हजार का खर्च आया। सुहागरात में मुझे महसूस हुआ कि मेरे पति को कुछ यौनिक समस्या है और वह उत्तेजित नहीं हो पाते। हमारे गांव में पहले भी लोगों की शादियां टूटी हैं, लेकिन इससे पहले किसी भी लड़की ने पति की नपुंसकता को कारण बताकर तलाक नहीं लिया।’

उनकी इस बेबाकी से फिल्म निर्माता देबरती गुप्ता भी काफी प्रभावित हुईं। गुप्ता किसी काम से इस गांव में आई थीं और यहां संयोगवश जिस मुलाकात में फातिमा के मुद्दे पर चर्चा हो रही थी, वहां वह मौजूद थीं।वसीम की यह दूसरी शादी है। कांडी अदालत में तलाक होने के बाद शनिवार को वह अपने गांव लौट आए। रमास्वामी बताती हैं, ‘शुक्रवार को दोनों परिवारों को अदालत ले जाया गया। तलाक का खर्च दोनों परिवारों ने मिलकर उठाया।वसीम की मां ने कहा कि शादी में मिला सामान लौटाने की जगह वह 55 हजार रुपए नकद ही लौटा देंगी। वह पैसा भी शुक्रवार को दे दिया गया। मैंने वसीम से वादा किया है कि मैं उसकी दिक्कत दूर करने के लिए उसे किसी सेक्स विशेषज्ञ डॉक्टर से मिलवाऊंगी।’

loading...
Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *