Friday, January 20

स्वास्थ्य

health

क्या आपका पेट ठीक तरह से साफ नहीं हो रहा है तो आपके लिए रामबाण उपाय ….

क्या आपका पेट ठीक तरह से साफ नहीं हो रहा है तो आपके लिए रामबाण उपाय ….

स्वास्थ्य
अगर आपका पेट ठीक तरह से साफ नहीं होता है तो इसका मतलब कब्ज हो सकता है और आपके शरीर में तरल पदार्थ की कमी है। कब्ज के दौरान आप खुद में तरोजाता महसूस नहीं कर पाते। कब्ज का यदि ठीक समय पर इलाज न कराया जाए तो ये एक भयंकर बीमारी का रूप ले सकता है। कब्ज होने पर व्यक्ति को पेट संबंधी दिक्कूते जैसे पेट दर्द होना, ठीक से फ्रेश होने में दिक्कत होना, शरीर का मल पूरी तरह से न निकलना इत्यांदि होती हैं। कब्ज के लिए प्रभावी प्राकृतिक उपचार तो मौजूद है ही साथ ही आयुर्वेदिक उपचार के माध्यम से भी कब्ज को दूर किया जा सकता है। आइए जानें कब्ज के लिए कौन-कौन से आयुर्वेदिक उपचार मौजूद हैं। दरअसल, पानी और तरल पदार्थों की कमी कब्ज का मुख्य कारण है। तरल पदार्थों की कमी से मल आंतों में सूख जाता है और मल निष्कासन में जोर लगाना पडता है। जिससे कब्ज रोगी को बहुत परेशानी होने लगती है। कब्ज के रोगी को तरल पदार्थ व स
रिंगन बाय, जोड़ों के दर्द, घुटनो के दर्द, कंधे की जकड़न, कमर दर्द का रामबाण उपाय

रिंगन बाय, जोड़ों के दर्द, घुटनो के दर्द, कंधे की जकड़न, कमर दर्द का रामबाण उपाय

स्वास्थ्य
साइटिका, रिंगन बाय, गृध्रसी, जोड़ों के दर्द, घुटनो के दर्द, कंधे की जकड़न एक टांग मे दर्द (साइटिका, रिंगन बाय, गृध्रसी), गर्दन का दर्द (सर्वाइकल स्पोंडोलाइटिस), कमर दर्द आदि के लिए ये तेल अद्भुत रिजल्ट देता हैं। दर्द भगाएँ चुटकी में एक बार जरूर अपनाएँ। ये चिकित्सा आयुर्वेद विशेषज्ञ “श्री श्याम सुंदर” जी ने अपनी पुस्तक रसायनसार मे लिखी हैं। कोई भी तेल जैसे महानारायण तेल, आयोडेक्स, मूव, वोलीनी आदि इसके समान प्रभावशाली नहीं है। एक बार आप इसे जरूर बनाए। आवश्यक सामग्री : कायफल = 250 ग्राम , तेल (सरसों या तिल का) = 500 ग्राम कायफल- “यह एक पेड़ की छाल है” जो देखने मे गहरे लाल रंग की खुरदरी लगभग 2 इंच के टुकड़ों मे मिलती है। ये सभी आयुर्वेदिक जड़ी बूटी बेचने वाली दुकानों पर कायफल के नाम से मिलती है। इसे लाकर कूट कर बारीक पीस लेना चाहिए। जितना महीन/ बारीक पीसोगे उतना ही अधिक गुणकारी होगा।
बवासीर से कम से कम एक दिन में निजात पाएं

बवासीर से कम से कम एक दिन में निजात पाएं

स्वास्थ्य
बवासीर (Piles) आजकल एक आम बीमारी के रूप में प्रचलित है। इस रोग मे गुदे की खून की नसें (शिराएं) फ़ूलकर शोथयुक्त हो जाती हैं, जिससे दर्द, जलन और कभी कभी रक्तस्राव भी होता है। बवासीर का प्रधान कारण कब्ज का होना है। जिगर मे रक्त संकुलता भी इस रोग कारण होती है। मोटापा, व्यायाम नहीं करना और भोजन में रेशे (फ़ाईबर) की कमी से भी इस रोग की उत्पत्ति होती है। बवासीर दो प्रकार की होती है- 1. खूनी बवासीर :- अंदर की बवासीर से खून निकलता है इसलिए इसे खूनी बवासीर कहते हैं। 2. बादी-बवासीर :- बाहर की बवासीर में दर्द तो होता है लेकिन उनसे खून नहीं निकलता है इसलिए इसे बादी-बवासीर कहते हैं। बवासीर रोग होने के कारण :- मलत्याग करते समय में अधिक जोर लगाकर मलत्याग करना। बार-बार जुलाव का सेवन करना। बार-बार दस्त लाने वाली दवाईयों का सेवन करना। उत्तेजक पदार्थों का अधिक सेवन करना। अधिक मिर्च-मसालेदार भोज
लहसुन और शहद साथ खाने के ये लाज़वाब फायदे जानकर आप दांतों तले अंगुली दबा लेंगे …

लहसुन और शहद साथ खाने के ये लाज़वाब फायदे जानकर आप दांतों तले अंगुली दबा लेंगे …

स्वास्थ्य
लहसुन और शहद एक बहुत ही पुरानी दवा है, जिसे बडे बडे रोगों को दूर करने के लिये खाया जाता था. अगर आप हर वक्तर बीमार रहते हैं और थकान की वजह से आपका मन किसी काम में नहीं लगता तो, इसका साफ मतलब है कि आपका इम्यूएन सिस्टम कमजोर हो गया है. अगर इम्यून सिस्टम कमजोर हो जाता है तो इंसान को सौ तरह की बीमारियां घेर लेती हैं. पर क्यार आप जानते हैं कि लहसुन और शहद को एक साथ मिला कर खाने से ये एंटीबायोटिक का काम करते हैं. यह एक प्रकार का सूपर फूड है. इसे बानने के लिये 2-3 बड़ी लहसुन की कली को हल्का सा दबा कर कूट लीजिये और फिर उसमें शुद्ध कच्ची शहद मिलाइये. इसे कुछ देर के लिये ऐसे ही रहने दीजिये, जिससे लहसुन में पूरा शहद समा जाए. फिर इसे सुबह खाली पेट 7 दिनों तक खाइये और फिर देखिये कमाल. हमेशा कच्चे और शुद्ध शहद का ही प्रयोग करें क्योंकि यह कोलेस्ट्रॉल को कम करने के मदद करता है. साथ ही इसे खाने से वजन भ
अविश्वसनीय खोज ! यह फल कुछ ही मिनटों में ठीक कर देता है कैंसर

अविश्वसनीय खोज ! यह फल कुछ ही मिनटों में ठीक कर देता है कैंसर

स्वास्थ्य
इन दिनों इंटरनेट पर एक खबर तेजी से वायरल हो रही है कि एक ऐसी दवाई खोजी गयी है कि जो कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी को मिनटों में ठीक कर सकती है। एक जंगली फल के बीज का है ये कमाल : वैज्ञानिकों ने दावा किया है उन्होंने कैंसर की एक प्राकृतिक और जादुई दवा खोज ली है जिससे की ये रोग मिनटों में दूर हो जायेगा। इस बारे में सोशल नेटवर्किंग साइटस पर काफी चर्चा हो रही है। कहा जा रहाहै कि ये चमत्कारी असर एक जंगली फल के बीजों में छुपा है। दरसल कैंसर दूर करने की दवाइयों में EVS-46 का इस्तेमाल होता है जो इस फल के बीजों में प्रचुर मात्रा में पाया जाता है इत्तेफाक से मिली दवा : सबसे खास बात ये है कि ये दवा कैंसर पर शोध कर रहे वैज्ञानिकों बिलकुल इत्तेफाक से मिल गयी। एक बार ऑस्ट्रेलिया में काम कर रहे शोध कर्ताओं ने देखा कि वहां एक ऑस्ट्रेलियन ब्लशवुड (blushwood berry) नाम के एक जंगली पेड़ पर कुछ फल लगे
इस फल के सेवन से कोई भी बीमारी नही बच सकती, चाहे वो एड्स हो या कैंसर ….

इस फल के सेवन से कोई भी बीमारी नही बच सकती, चाहे वो एड्स हो या कैंसर ….

स्वास्थ्य
एक ताजा शोध के मुताबिक नोनी फल कैंसर व लाइलाज एड्स जैसी खतरनाक बीमारियों में भी कारगर साबित हो रहा है। वहीं भारत में वर्ल्ड नोनी रिसर्च फाउंडेशन सहित कई शोध संस्थान शोध कर रहे हैं। हाल ही में नोनी के इन रहस्यमयी गुणों का खुलासा भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान में एक सेमिनार में हुआ। कृषि वैज्ञानिक नोनी को मानव स्वास्थ्य के लिए प्रकृति की अनमोल देन बता रहे हैं। इन वैज्ञानिकों के अनुसार समुद्र तटीय इलाकों में तमिलनाडु, कर्नाटक, महाराष्ट्र, उड़ीसा, आंध्रप्रदेश, गुजरात, अंडमान निकोबार, मध्यप्रदेश सहित नौ राज्यों में 653 एकड़ में इसकी खेती हो रही है। कृषि वैज्ञानिक चयन मंडल भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद के पूर्व चेयरमैन व वर्ल्ड नोनी रिसर्च फाउंडेशन के अध्यक्ष डॉ. कीर्ति सिंह ने कहा – “इस फल में दस तरह के विटामिन, खनिज पदार्थ, प्रोटीन, फोलिक एसिड सहित 160+ पोषक तत्व हैं।” उन्होंने कहा कि – “इसके
अगर आपका भी रोज सुबह पेट साफ़ नही होता तो अपनाएं ये घरेलु नुस्खे !

अगर आपका भी रोज सुबह पेट साफ़ नही होता तो अपनाएं ये घरेलु नुस्खे !

स्वास्थ्य
इलायची अगर आपने खाने के स्वाद के कारण जरुरत से ज्यादा खाना खा लिया हो तो छोटी इलायची चबा लीजिये. इलायची में पाचन क्षमता होती है . इलायची वाष्पशील तेल व पाचन विकार को दूर करती है जिससे आप थोड़े देर में खुद को अच्छा महसूस करने लगेंगे. इलायची बदहजमी दूर करती है लेकिन गर्भवती स्त्री इलायची का जायदा सेवन न करें इससे गर्भपात हो सकता है. नीबू जब खाना ज्यादा लजीज बना हो और आपने जरुरत से जायदा खा लिया है तो एक नीबू के दो टुकड़े करके थोड़ी देर चूस लीजिये. नीबू पित्त रस बनता है जिससे इससे जायदा खाने के कारण हो रही पेट की परेशानी खत्म हो जाएगी और आप आराम महसूस करने लगेंगे. फल अपचन की समस्या होने पर फल काट कर खा ले फल अपचन से बचाता है और भोजन का सही पाचन करता है. अगर ज्यादा मसालेदार और तेलीय खाना खाने से या स्वाद के कारण अधिक खाना खाने से पेट में गैस या अपचम महसूस कर रहे हो तो इन घरेलु
ये 5 जड़ी बूटियां बना सकती है आपके दिमाग को कंप्यूटर से भी तेज…

ये 5 जड़ी बूटियां बना सकती है आपके दिमाग को कंप्यूटर से भी तेज…

स्वास्थ्य
1. दालचीनी कहने को दालचीनी एक सिर्फ एक मसाला है लेकिन ये एक बहुत बढ़िया जड़ी बूटी भी है। यदि रात को सोने से पहले नियमित रूप से एक चुटकी दालचीनी का पाउडर शहद के साथ मिलाकर ले तो इससे मानसिक तनाव में राहत मिलती है और दिमाग भी तेज होता है। 2. हल्दी भारत के हर घर में प्रयोग होने वाली हल्दी न केवल कैंसर के इलाज में अचूक औषधि है बल्कि यह दिमाग को भी स्वस्थ रखने में मदद करती है। कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी में हुए एक शोध के अनुसार, हल्दी में कुरकुमीन नामक एक रसायन पाया जाता है जो की दिमाग की मृत या निष्क्रिय कोशिकाओं को सक्रीय करने में सहायक होता है। 3. शंख पुष्‍पी दिमाग की शक्ति को बढ़ाने के लिए शंखपुष्पी के बहुत ही बढ़िया औषधि है। दिमाग को तेज करने के लिए रोज आधा चम्मच शंख पुष्पी को एक कप गरम पानी में मिला कर लें। यह दिमाग में रक्त का सही संचार करती है जिससे याद करने की क्षमता और सीख
बादाम को भिगाकर खाने के 6 स्वास्थ्य वर्धक फ़ायदों से आप होगें अनजान,पढ़ें क्या है ये फायदे…

बादाम को भिगाकर खाने के 6 स्वास्थ्य वर्धक फ़ायदों से आप होगें अनजान,पढ़ें क्या है ये फायदे…

स्वास्थ्य
आपके घर के बड़े बुज़ुर्गों ने कभी न कभी आपको ये बात ज़रूर बताई होगी, कि बादाम भिगोकर खाने से बहुत फायदे होते हैं। हालांकि, शायद ही आपको इसके फायदे विस्तार से बताए गए हों। इसलिए हम आपके लिए लाए हैं ऐसे 6 कारण जिनकी वजह से भीगे हुए बादाम खाने से आपके पूरे शरीर को फायदा पहुंचेगा। लेकिन उससे पहले हम आपको बताएंगे भीगे बादाम में ऐसा क्या ख़ास होता है। क्यों खाएं भीगे बादाम – बादाम में आवश्यक विटामिन और मिनरल्स जैसे कि विटामिन ई, ज़िंक, कैल्शियम, मैग्नीशियम और ओमेगा-3 फैटी एसिड्स शामिल होते हैं। ये सभी तत्व आपके शरीर को अलग-अलग तरह से फायदे पहुंचाते हैं। लेकिन इनका फायदा उठाने के लिए आपको इन्हें भिगोकर खाना होगा। ऐसा इसलिए क्योंकि बादाम के भूरे रंग के छिलके में टैनीन होता है जो पोषक तत्वों के अवशोषण को रोक लेता है। बादाम को पानी में भिगोने से छिलका आसानी से उतर जाता है और नट्स को पोषक तत्वो
इस चमत्कारिक औषधि के सेवन से केवल 7 दिन में पायें समतल पेट

इस चमत्कारिक औषधि के सेवन से केवल 7 दिन में पायें समतल पेट

स्वास्थ्य
खुद को एक्टिव रखने के लिए जरूरी है कि आप व्यायम के साथ अपने आहार पर खास ध्यान दें। पेटी की चर्बी से हर दूसरा व्यक्ति परेशान नजर आता है। सुंदर दिखना कौन नहीं चाहता , सुंदर दिखने के लिए स्लिम और फिट दिखना भी जरुरी होता है l यह समस्या काफी आम हो चुकी है। इसके लिए अपनी एक नियमित दिनचर्या बनाएं और गंभीरता से इसका अनुसरण करें। इस का कारण है ख़राब खान पान , व्यायम की कमी और भाग दौड़ वाली दिनचर्या l Sourceइसी लिए आज हम इस चमत्कारी नुख्से के जरिये आप को बतायेगे आप कैसे पा सकते है सिर्फ 7 दिन में समतल और सुंदर दिखने वाला पेट | तो आइये जाने इस चमत्कारी ड्रिंक के बारे में –   सामग्री – Ingredients 1 केला 1 संतरा 1/2 कप कम वसा (Low Fat) वाला दही 1  बड़ा चमच नारियल तेल 1 चुटकी अदरक 2 बड़े चमच अलसी के बीज 2 बड़े चमच मट्ठा पाउडर (whey powder) दही से चीज़ (हिंदी वाला नहीं