Friday, January 20

अन्य

other

रिलाइंस ने दिया नये साल का शानदार तोहफा, जानकर आप ख़ुशी से उछल पड़ेंगे

रिलाइंस ने दिया नये साल का शानदार तोहफा, जानकर आप ख़ुशी से उछल पड़ेंगे

अन्य
रिलायंस के LYF स्मार्टफोन की कीमतों में हुई कटौती, 7800 रुपये तक कम हुए दाम अगर आप रिलायंस के सब-ब्रांड LYF के स्मार्टफोन्स खरीदना चाहते हैं, तो आपके लिए एक खुशखबरी है। कंपनी ने अपने स्मार्टफोन्स की कीमतों में बदलाव किए हैं नई दिल्लीा। अगर आप रिलायंस के सब-ब्रांड LYF के स्मार्टफोन्स खरीदना चाहते हैं, तो आपके लिए एक खुशखबरी है। कंपनी ने अपने स्मार्टफोन्स की कीमतों में बदलाव किए हैं। कुछ फोन्स की कीमतें बड़ी हैं, तो कुछ की कम की गई हैं। घटाई हुई कीमतों में लाइफ वॉटर 10, लाइफ वॉटर 8, लाइफ वॉटर 7, लाइफ वाटर 1 लाइफ एफ1 और लाइफ वाइंड 7 शामिल हैं, तो वहीं, लाइफ वाटर 3 के दाम बढ़ा दिए गए हैं। आपको बता दें कि इन सभी स्मार्टफोन्स के साथ जिओ का हैप्पी न्यू ईयर ऑफर भी दिया जा रहा है, जो 31 मार्च 2017 तक वैध है। जानें किस फोन की कीमत में हुआ बदलाव? 1. लाइफ वॉटर 1 की कीमतों में सबसे बड़ी कटौती की गई
जियो ने खत्म की इंतजार की घड़ियां, दे दी बड़ी खुशखबरी

जियो ने खत्म की इंतजार की घड़ियां, दे दी बड़ी खुशखबरी

अन्य
नई दिल्ली(29 दिसंबर): ई-कॉमर्स कंपनी स्नैपडील पर जल्द ही अब रिलायंस जियो के सिम मिलेंगे। स्नैपडील इन सिम की होम डिलिवरी करेगा। स्नैपडील पर बिक्री के लिए उपलब्ध होने वाला सिम हैप्पी न्यू ईयर ऑफर के साथ आएगा। – स्नैडील के वेबपेज पर रिलायंस जियो सिम की होम डिलीवरी का एड नजर आया। जिसके लिए यूजर को ई-कॉमर्स वेबसाइट पर अपनी कॉन्टैक्ट डीटेल, पता और एरिया की जानकारी देनी होगी। – बता दें कि जियो सिम अभी कुछ चुनिंदा जगहों पर ही डिलीवरी के लिए उपलब्ध होगी। यहां यूजर टाइम-स्लॉट भी चुन सकते हैं जिसमें वह जियो सिम की डिलिवरी चाहते हैं। न्यू ईयर ऑफर के तहत जियो के नए यूजर को मार्च 2017 तक फ्री वायस कॉलिंग, फ्री डेटा मिलेगा. वेलकम ऑफर को भी कंपनी ने बढ़ा दिया है और इसे ‘हैप्पी न्यू ईयर ऑफर’ का नाम दिया है जिसके तहत कंपनी के सभी 50 लाख से ज्यादा यूजर्स मार्च 2017 तक फ्री सेवा का लाभ ले सकेंगे।

अगर तीसरा विश्वयुद्ध होता है तो ये पांच देश पृथ्वी को तबाह कर देंगे!

अन्य
वैसे तो प्रथम विश्वयुद्ध को हुए 100 साल से भी ज्यादा का वक़्त बीत चूका है. लेकिन अब तक या साफ़ नहीं हो पाया है कि प्रथम विश्वयुद्ध आखिरकार शुरू किस देश के कारण शुरू हुआ था. युद्ध खत्म होने के बाद 1919 में वरसाई की संधि में जर्मनी को युद्ध का जिम्मेदार बताया गया और इसके लिए बर्लिन पर बंदिशें लगाई गईं. लेकिन 1920 से ही माना जाने लगा कि इस युद्ध के लिए “सभी जिम्मेदार थे, या कोई नहीं”. Sourceतृतीय विश्वयुद्ध को लेकर भी कुछ ऐसा ही अनुमान लगाया जा रहा है कि अगर तीसरा विश्वयुद्ध होता है तो यह कहना गलत होगा कि इसका जिम्मेदार कोई एक देश है. क्यों कि अगर दुनिया की मौजूदा हालत को देखा जाये तो ऐसी स्थिति है कि कभी भी विश्वयुद्ध छिड़ सकता है. क्योंकि एक ओर जहाँ चीन अपने सीमा से लगे कई देशों के सीमा पर कब्ज़ा कर रहा है. वही कुछ देश अब चीन के इस हरकत का विरोध करते नज़र आ रहे हैं. अमेरिका समेत वियतनाम भ

अभी अभी, करीना-सैफ का बेटा तैमूर नहीं बन सकेगा 5000 करोड़ की जायदाद का दावेदार

अन्य
भोपाल.करीना और सैफ अली खान का बेटा तैमूर अली खान पटौदी यहां मौजूद करीब 5000 करोड़ रुपए की जायदाद का वारिस नहीं बन पाएगा। दरअसल, भोपाल के आखिरी नवाब और सैफ के परदादा हमीदुल्ला खान की पूरी मूवेबल और इम्मूवेबल प्रॉपर्टी एनिमी प्रॉपर्टी एक्ट की जद में है। सरकार बार-बार ऑर्डिनेंस लाती रहती है ताकि पार्टिशन के बाद पाकिस्तान जा चुके राजघराने के लोगों की प्रॉपर्टी पर दावों का निपटारा होने तक उसे खरीदा-बेचा ना जा सके। मोदी सरकार की कैबिनेट ने गुरुवार को ही 5वीं बार ऑर्डिनेंस जारी करने को मंजूरी दे दी। इसके चलते फिलहाल सैफ या उनके बेटे को इस प्रॉपर्टी से कोई फायदा नहीं मिलने वाला। भोपाल में सैफ के परदादा की कुल प्रॉपर्टी करीब 5000 करोड़ रुपए की है। हरियाणा और देश के दूसरे हिस्सों में भी उनकी करोड़ों की प्रॉपर्टी है। गृह मंत्रालय करा रहा जांच – नवाब पटौदी की प्रॉपर्टी शुरू से ही विवादों मे

अमीर बनने के लि‍ए जरूर करें ये 5 काम, ऐसे सीक्रेट जो नहीं बताता है कोई

अन्य
नई दि‍ल्‍ली। ऐसा कौन है जो अमीर नहीं बनाना चाहता। चाहे वह कहीं से भी आया हो। सब चाहते हैं वह एक लग्‍जरी लाइफ जी सकें। लग्जरी लाइफ के अपने सपने को पूरा करने के लि‍ए कुछ चीजों का होना जरूरी है। बि‍जनेस इनसाइडर ने कुछ ऐसे टि‍प्‍स और ट्रि‍क्‍स बताई हैं तो आपके करोड़पति‍ बनने के सपने को पूरा कर सकते हैं। अमीर और सफल लोगों से मि‍लना औसत लोगों के साथ घूमने से आपके बैंक अकाउंट में कोई फर्क नहीं पड़ेगा। अगर आपको अमीर बनना है तो अपने फि‍ल्‍ड के एक्‍स्‍पर्ट के साथ घूमना और मि‍लना शुरू करें। यह समझें कि‍ वह अपनी लाइफ को इस तरह से लीड करते हैं। उसी तरह अपनी एक्‍टि‍वि‍टी को बदलें। लाखों लोगों पर असर डालना अगर आप लखपति‍ बनना चाहते हैं एक लाख लोगों की मदद करें। आप जि‍तना दूसरों पर असर डालेंगे उतनी जल्‍दी पैसा कमाएंगे। आप पॉपुलर एंत्रप्रेन्‍योर्स को देख सकते हैं, वह दूसरों की मदद कर

जानिए गेस्टहाउस कांड, जब सपा के गुंडों से माया को बचाया था RSS लट्ठमार ने .

अन्य
लखनऊ।2 जून 1995 को उत्तर प्रदेश की राजनीति में जो हुआ वह शायद ही कहीं हुआ होगा। मायावती उस वक्त को जिंदगी भर नहीं भूल सकतीं। उस दिन को प्रदेश की राजनीति का ‘काला दिन’ कहें तो कुछ भी गलत नहीं होगा। उस दिन एक उन्मादी भीड़ सबक सिखाने के नाम पर दलित नेता की आबरू पर हमला करने पर आमादा थी। हालांकि अब भी एक बड़े हिस्से के लिए ये कौतुहल ही है कि 2 जून 1995 को लखनऊ के राज्य अतिथि गृह में हुआ क्या था? उस घटना की जानकारी के लिए ही मायावती के जीवन पर आधारित अजय बोस की किताब ‘बहनजी’ का अंश प्रकाशित किया जा रहा है। किताब के हिंदी अनुवाद के पृष्ठ 104 और 105 पर छपा ये अंश गेस्टहाउस में उस दिन घटी घटनाओं का पूरा ब्योरा है। 1995 की बात है लखनऊ का गेस्टहाउस काण्ड … जब पार्टी के गुंडों ने दलित महिला मायावती को कमरे में बंद करके मारा था और उनके कपड़े फाड़ दिए थे … तब मायावती को अपनी जान पर खेल

सनसनीखेज खुलासा : मोदी नोटबंदी ना करते तो डूब जाता अपना देश जाने क्यूँ

अन्य
नोटबंदी के बाद काफ़ी लोग मोदी जी से नाराज़ हो गये हैं और काफ़ी लोग काफ़ी ख़ुश हैं , क्या आपको लगता है नोटबंदी का ये फ़ैसला जल्दबाज़ी में लिया गया है ? यदि लगता है तो समझ लीजिए आप ग़लत हैं क्यूँकि बहुत बड़े बड़े ख़ुलासे हो रहे हैं । मोदी जी ने बहुत कोशिस की थी कि इस क़दम को धीरे धीरे लागू किया जाए पर जब उन्होंने आँकडें देखे तो उनका दिमाग़ सून्न हो गया । देश की अर्थव्यवस्था की हालत पिछली सरकार ने इस क़दर ख़राब कर दी थी । अब आप सोच रहे होंगे कि ऐसी क्या गुत्थी उलझ गयी थी  तो आज आपके इस सवाल का जवाब हम आपको दे रहे हैं।  हमने कल एक लेख के द्वारा आपको बताया था कि सोशल मीडिया में एक ही नम्बर के नोट बार बार आ रहे हैं और लोगों की लगातार इस बारे में शिकायतें आ रही हैं । बड़े बड़े अर्थशास्त्रियों  से जब हमने इस बारे में जानने की कोशिस की तो पाया कि ऐसा माना जा रहा है कि UPA सरकार के कार्यकाल में

चालबाज चीन को करारा जवाब देने की तैयारी में भारत और अमेरिका

अन्य
चालबाज चीन को करारा जवाब देने की तैयारी में भारत और अमेरिका   नई दिल्ली : चतुर चीन हर मोर्चे पर भारत को घेरने की ताक में रहता है। द्विपक्षीय, अंतर्राष्ट्रीय या फिर पाकिस्तान से ही जुड़ा कोई मुद्दा क्यों ना हो वह भारत की राह में हर मुमकिन रोड़ा डालने के लिए तैयार खडा़ दिखता है। लिहाजा भारत भी धीरे-धीर ड्रैगन के इस चाल को समझने लगा है और चालबाज चीन के निपटने के अपनी कुटनीति और रणनीति में भी बदलाव कर रहा है। हिंद महासागर को अपना जागीर समझ रहे चीन के मंसूबों पर लगाम लगाने के लिए भारत और अमेरिका रणनीतिक सहयोग बढ़ा रहा है। भारत और अमेरिका अपन सालाना मालाबार नौसेना अभ्यास को और ज्यादा विस्तार देने की योजना बना रहा है जिससे ऐंटी-सबमरीन ऑपरेशन को नई धार मिल सके। वहीं जापान इस नौसेना अभ्यास का अब नियमित सहभागी बन चुका है। इसी सिलसिले में शुक्रवार को दिल्ली में अमेरिका के सातवें बे

मोदी की मुहिम का असर, दो मुस्लिम देशों ने भी छोड़ा पाकिस्तान का साथ

अन्य
विकास के मुद्दे पर पाकिस्‍तान में होने वाले एक अहम सम्‍मेलन से भारत हट गया है। भारत के साथ-साथ ईरान और बांग्लादेश भी इसमें शिरकत नहीं कर रहे हैं। माना जा रहा है कि अंतरराष्‍ट्रीय मंच पर पाकिस्‍तान को अलग-थलग करने के मकसद से भारत ने यह फैसला किया है। इससे पहले भी भारत ने पाकिस्‍तान में होने वाले सार्क सम्‍मेलन में हिस्‍सा नहीं लिया था। भारत के साथ कई और देश भी इसमें शरीक नहीं हुए थे जिसकी वजह से सार्क सम्‍मेलन को रद्द करना पड़ा था। रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्‍तान के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय के अधिकारियों ने शुरुआत में सम्मेलन में भारत की भागीदारी की पुष्टि की थी, लेकिन बाद में भारत की तरफ से इससे हटने की जानकारी दी गई। एशिया एंड पसिफिक सेंटर फॉर ट्रांसफर ऑफ टेक्‍नॉलजी की संचालक परिषद का तीन दिन का सत्र सोमवार से इस्लामाबाद में शुरू हो गया है। अधिकारी ने बताया, ‘बैठक शुरू होन