Friday, January 20

धर्म

religion

समुद्र के अंदर मिला कुछ ऐसा कि साइंटिस्ट भी थे हैरान, वायरल हुईं Photos

समुद्र के अंदर मिला कुछ ऐसा कि साइंटिस्ट भी थे हैरान, वायरल हुईं Photos

धर्म
दुनिया में हमेशा से कुछ न कुछ ऐसी रहस्यमयी चीज मिलती रही है, जिसके बारे में जानकर काफी हैरानी होती है। इनमें कुछ की गुत्थी आज तक साइंटिस्ट भी नहीं सुलझा पाए। अभी हाल ही में इजिप्ट के भूमध्य सागर में साइंटिस्टों को कुछ ऐसी ही चीजें मिली है, जो बेहद ही चौंकाने वाली थी। जब समुद्र के अंदर दिखा ऐसा नजारा... फ्रांस के रहने वाले फ्रैंक गॉडिओ एक अंडरवाटर आर्कियोलॉजिस्ट हैं। हाल ही में वो इजिप्ट गए हुए थे। इस दौरान समुद्र के अंदर उनको ऐसा नजारा देखने को मिला, जिससे वो हैरान हो गए। दरअसल, करीब हजारों साल पहले जिस शहर का नामोनिशान मिट गया था, उसके अवशेष उन्हें समुद्र की गहराई में दिखाई दिया। बता दें कि हेराक्लियन (Heracleion) नाम के शहर की खोज 8 सौ ईसा पूर्व में की गई थी। लेकिन प्राकृतिक आपदा के कारण 8 सौ एडी में यह शहर समुद्र के अंदर समा गया था। खोज के दौरान हाल ही में उस शहर के साथ कई अवशेष और ब
कई समस्याओं का सामना करना पड रहा है तो इस दिन गणेश जी की पूजा अवश्य करें –

कई समस्याओं का सामना करना पड रहा है तो इस दिन गणेश जी की पूजा अवश्य करें –

धर्म
अगर आप के बुध ग्रह खराब है तो इसके लिए बुधवार के दिन किसी गरीब या किसी मंदिर में जाकर हरे मूंग का दान करे इससे आपका बुध ग्रह का दोष शांत हो जाएगा। बुधवार को श्री गणेश का दिन माना जाता है। इस दिन कोई भी गणेश जी संबंधी उपाय करने से आपको हर काम में सफलता प्राप्त होती है। अगर आपका कोई भी काम बिगड़ रहा हो, तो इस दिन पूजा करने से वह काम बन जाता है। इस दिन श्री गणेश की पूजा का अलग ही महत्व है। इस दिन सच्चे मन से गणेश की पूजा की जाए तो आपकी हर मनोकामना पूर्ण होगी। शिव-पार्वती के पुत्र गणेश जी को हम कई नाम से जानते है जैसे कि सुमुख, एकदंत, लंबोदर, विकट, विघ्ननाशन, विनायक, धूमकेतु, गजानन है। जिन्हें हम कष्टों को हरने वाला मानते है। गणेश जी अपने भक्तों से बड़ी जल्दी प्रसन्न होते है और उनकी इच्छाओं की पूर्ति भी करतें है। अगर आप बुध ग्रह अशुभ स्थिति में है जिसके कारण आपको कई समस्याओं का सामना क
तो जानिए आखिर क्यों चूहा बना गणेश जी का वाहन?

तो जानिए आखिर क्यों चूहा बना गणेश जी का वाहन?

धर्म
देवों में सर्वप्रथम पूज्य गणेश जी का वाहन चूहा है। चूहा जिसे संस्कृत में मूषक कहते हैं, जो कि शारीरिक आकार में छोटा होता है। गणेश जी बुद्धि के देवता है तो चूहा को तर्क-वितर्क का प्रतीक माना गया है। चूहे में इसके अलावा और भी कई गुण होते हैं, यही कारण है कि गणेशजी ने चूहे को ही अपना वाहन चुना था। गणेश पुराण के अनुसार हर युग में गणेश जी का वाहन बदलता रहता है। सतयुग में गणेश जी का वाहन सिंह है। त्रेता युग में गणेश जी का वाहन मयूर है और वर्तमान युग यानी कलियुग में उनका वाहन घोड़ा है। चूहा द्वापर युग में उनका वाहन था। चूहा कैसे बना गणेश जी का वाहन? इस बारे में हमारे धर्मग्रंथों में एक पौराणिक कहानी का उल्लेख मिलता है। कहानी कुछ इस तरह है कि एक बार महर्षि पराशर अपने आश्रम में ध्यान अवस्था में थे। तभी वहां कई चूहे आए और उनका ध्यान भंग करने लगे। उन चूहों ने आश्रम को तहस-नहस कर दिया। मह
पैसों या करियर से जुड़ी मुराद, इन में से 1 चीज भी देवी को चढ़ाएंगे तो जरूर पूरी होगी

पैसों या करियर से जुड़ी मुराद, इन में से 1 चीज भी देवी को चढ़ाएंगे तो जरूर पूरी होगी

धर्म
माना जाता है कि यदि माता को उनके प्रिय चढ़ावे चढ़ाएं जाएं तो वे अपने भक्तों के मन की हर मुराद पूरी कर देती हैं। आइए जानते हैं 7 ऐसे ही चढ़ावों के बारे में जिन्हें चढ़ाने से मां प्रसन्न हो जाती हैं। 1- माता के मन्दिर में कुमकुम चढाये एवं सुहागन ओरतों को कुमकुम का दान करे 2-माता के मन्दिर में अनार का भोग चढ़ाने से हर मनोकामना पूरी होती है. 3- माता के मन्दिर में हलवे का चढ़ावा चढ़ाने पर हर मुराद पूरी होती है. 4- देवी मन्दिर में अखरोट चढ़ाने से अपार यश और कीर्ति मिलती है. 5- लौंग के जोड़े वाला पान चढ़ाने से यश मिलता है. 6- देवी मन्दिर में मोगरे का गजरा चढ़ाने से मनोकामना पूरी होती है. 7- देवी मन्दिर में नथनी चढ़ाने से सौभाग्य में बढ़ोतरी होती है.

ये हैं अमेरिका का सबसे बड़ा हिन्दू मंदिर,इस मंदिर की भव्यता देख अभिभूत हो जायेंगे आप,देंखे तस्वीरे

धर्म
मंदिर के अंदर का भव्य दृश्य जिसे देख आप हो जाएंगे विस्मृत । न्यू जर्सी। ये हैं अमेरिका के न्यू जर्सी राज्य के रॉबिंसविले में स्तिथ स्वामीनारायण संप्रदाय ने मंदिर,  दावा है कि यह अमेरिका में अबतक का सबसे बड़ा मंदिर है। मंदिर के निर्माणकर्ता बोचासनवासी अक्षर पुरुषोत्तम स्वामीनारायण संस्था के अनुसार यह मंदिर 162 एकड़ में फैली है। मंदिर की कलाकृति को प्राचीन भारतीय संस्कृति को ध्यान में रखकर बनया गया है। ये हैं अमेरिका का सबसे बड़ा हिन्दू मंदिर,इस मंदिर की भव्यता देख अभिभूत हो जायेंगे आप,देंखे तस्वीरे मंदिर के अंदर का भव्य दृश्य जिसे देख आप हो जाएंगे विस्मृत । न्यू जर्सी। ये हैं अमेरिका के न्यू जर्सी राज्य के रॉबिंसविले में स्तिथ स्वामीनारायण संप्रदाय ने मंदिर,  दावा है कि यह अमेरिका में अबतक का सबसे बड़ा मंदिर है। मंदिर के निर्माणकर्ता बोचासनवासी अक्षर पुरुषोत्तम स्वामी

दुनिया का यह सबसे बड़ा मुस्लिम देश “रामायण का दीवाना ” है ,मोदी जी से की यह डिमांड

धर्म
यह एक ऐसा देश है, जिसमें दुनिया के सबसे ज्यादा मुस्लिम रहते हैं। खास बात यह है कि यह देश विश्व के सबसे बड़ी आबादी वाले, हिंदुओं के देश, भारत के एक महाकाव्य ‘रामायण’ का दीवाना है। इस देश के जनमानस के बीच राम एक महान कथा पुरूष हैं। यहां राम की नगरी अयोध्या भी स्थित है, जो यहां की जनता के लिए आस्था का प्रतीक है। आइए जानते हैं क्या नाम है इस देश का? यहां के राम कैसे हैं? और अब मोदी सरकार से क्या चाहता है ये देश? जिस तरह रामायण भारतीय जनता की आस्था का केंद्र है और राम ईश्‍वर का स्‍वरूप, वैसे ही सबसे ज्यादा मुस्लिम बहुलता वाले इस देश में मुसलमान राम को अपने जीवन का नायक और रामायण को अपने दिल का सबसे करीब ग्रंथ मानते हैं। विश्व के मानचित्र पर यह देश दक्षिण पूर्व एशिया में स्थित है। इसकी आबादी तकरीबन 23 करोड़ है। इसका नाम इंडोनेशिया है। यह दुनिया का चौथा सबसे अधिक आबादी वाला देश है। इसकी र

बलूचिस्तान के हिंगलाज माता मंदिर को बचाने के लिए दे चुके हैं कई बलूच कुर्बानी

धर्म
नई दिल्ली। बलूचिस्तान, पाकिस्तान का वो इलाका जो अपने ही हुक्मरानों के जुल्म का शिकार है। जहां के कुदरती खजाने को पाकिस्तान ने जम कर लूटा लेकिन बदले में यहां के बाशिंदों को जुल्म मिलता है। इस सौतेले बर्ताव से बलोच लोग आजादी चाहते हैं। भारत का साथ चाहने वाले बलोच नेताओं की उम्मीदों को तब पंख लग गए जब आजादी की 70वीं सालगिरह के मौके पर प्रधानमंत्री मोदी ने बलूचिस्तान ही नहीं, ऐसे हर इलाके का जिक्र किया, जिसे पाकिस्तान ने ताकत के दम पर दबा रखा है। बलूचिस्तान की जमीन पर दुर्गम पहाड़ियों के बीच  हिंगलाज माता का मंदिर बसा है। 51 शक्ति पीठ में सबसे प्रमुख है शक्तिपीठ। पौराणिक मान्यताओं के मुताबिक यहां सती का सिर गिरा था। इसके बावजूद भारत में भक्त हिंगलाज शक्ति पीठ के दर्शन के लिए तरसते हैं। प्रधानमंत्री मोदी के भाषण के बाद दुनिया का ध्यान यहां हो रहे जुल्मो-सितम पर गया हैबलोच नेता अपनी तक

मिल गई समुद्र में डुबी भगवान श्रीकृष्ण की नगरी ‘द्वारका’ देकिए वीडियो

धर्म
द्वापर युग मैं, महाभारत युद्ध के ३६ साल पश्चात भगवान श्री कृष्ण की नगरी द्वारिका (Lord Krishna Dwarika Nagri) समुद्र में विलीन हो गई थी। हालांकि भगवान श्रीकृष्ण द्वारिका के समुद्र में विलीन से पहले ही देह त्याग कर चुके थे। भगवान श्री कृष्ण की नगरी द्वारिका के डूबने के २ प्रमूख कारण माने जा रहे हैं। पहला कारण:भगवान श्री कृष्ण को दिया गया माता गांधारी क श्राप दूसरा कारण: ऋषि मुनियों द्वारा भगवान श्री कृष्ण के पुत्र सांब को दिया श्राप। भगवान श्रीकृष्ण के देह त्याग के बाद अर्जुन द्वारिका आये और यदुवंश की समस्त स्त्रियों एवं द्वारिका वासियों को हस्तिनापुर ले चले। अर्जून एवं यदूवंशी स्त्रियों के द्वारिका से बाहर निकलते ही द्वारिका नगरी समुद्र में समा गयी। द्वारिका नगरी के समुद्र में विलीन होने के कारणों का पता लगाने एवं भगवान श्री कृष्ण की इस नगरी को ढूढ़ने के लिए वैज्ञानिक कई साल

रजनीकांत को मंदिर में भिकारी समझ दी गई थी भीख….. आगे जो हुआ। …

धर्म
इस पूरे वाकये के बारे में खुद उस महिला ने बताया, जिनका नाम डॉ. गायत्री है साउथ के सुपर हीरो रजनीकांत अपनी सादगी के लिए हमेशा से जाने जाते हैं। वे बड़े परदे पर भले ही अपने स्टाइल और पहनावे से लोगों का मन जीत लेते हैं, पर असल ज़िन्दगी में वे उतनी ही सादगी से रहते हैं। हाल ही में एक ऐसा वाकया हुआ, जिसे सुनकर आपको शॉक ज़रूर लगेगा। अगर हम आपसे ये कहें कि एक औरत ने सुपरस्टार रजनीकांत को भिखारी समझ 10 रूपए का नोट थमा दिया, तो आपका रिएक्शन कैसा होगा? शायद आपको इस बात पर यकीन न हो, लेकिन ये सच है हाल ही में रजनीकांत एक मंदिर में अपने सादे पहनावे में मंदिर गए, जहाँ दर्शन के बाद वे मंदिर के किनारे थोड़ी देर के लिए बैठ गए। तभी वहां से एक महिला गुजरी और उसने रजनीकांत को भिखारी समझते हुए 10 रूपए का नोट भीख में दिया। लेकिन रजनीकांत की सादगी का जवाब नहीं.. उन्होंने न सिर्फ वो नोट मुस्कुराकर ले लिया, बल्

जिस फरसे से हुआ था 21 बार पृथ्वी के सारे क्षत्रियों का नाश, वो मिला इस राज्य में..

धर्म
झारखंड के टांगीनाथ नामक जगह पर आज भी मौजूद है भगवान परशुराम का फरसा भारत चमत्कारों से भरा हुआ देश है यहां हर जगह आपको कुछ ना कुछ इतिहास से जुड़ी चमत्कारिक चीजें दिखाई दे ही जाती हैंl संस्कृति से भरे हुए इस देश में बहुत सी ऐसी घटनाऐं भी सामने आती रहती हैं जिसका पुराणों में उल्लेख हैl आज हम आपको एक ऐसे धाम से रूबरू कराने वालें हैं जो भारत के झारखंड राज्य में स्थित है और यहां आज भी भगवान परशुराम का फरसा रखा है जिसके बारे में पुराणों में लिखा हैं कि उस फरसे से उन्होंने 21 बार पृथ्वी से सारे क्षत्रियों का नाश किया थाl झारखंड राज्य मे गुमला शहर से करीब 75 km दूर तथा रांची से करीब 150km दूर घने जंगलों के बीच स्थित है टांगीनाथ नामक एक धामl यहाँ आने के बाद आप आज भी भगवान परशुराम का फरसा ज़मीं मे गड़ा हुआ देख सकतें हैंl आपको बता दें कि झारखंड में फरसा को टांगी कहा जाता है, इसलिए इस स्थान का न